आंवले को आयुर्वेद में अमृतफल कहा गया है. यह विटामिन-सी का सबसे बेहतरीन स्रोत है.

आंवले में पाया जाने वाला क्रोमियम नामक तत्व डायबिटीज़ के लिए बहुत फायदेमंद है.

इसके सेवन से विटामिन-सी और दूसरे पोषक-तत्वों की आपूर्ति भी शरीर में होती रहती है.

सूखा आंवला हमारी सेहत और त्वचा के साथ ही बालों के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद होता है.

आंवला विटामिन-सी, ए व फाइटोन्यूट्रिएंट्स के साथ ही एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है. ये सारे तत्व शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी को मजबूती देने में  मददगार होती हैं.

सूखा आंवला मुंह में रखकर चूसने से प्रेग्नेंसी के दौरान बार-बार आने वाली उल्टियों और जी मिचलाने जैसी समस्याओं में काफी राहत मिलती है.

इस तरह से आंवला पेट दर्द में भी कारगर साबित हो सकता है, इसलिए पेट में जलन या ऐंठन जैसी शिकायत हो, तो सूखे आंवले का इस्तेमाल इसमें बहुत राहत पहुंचा सकता है.

आंवले में मौज़ूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मुंह में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है.

आंवले में मौज़ूद एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मुंह में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया को पनपने से रोकता है.

आंवले में विटामिन-सी और ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जो हमारी आंखों की रोशनी बढ़ाने और उन्हें स्वस्थ बनाए रखने के लिए ज़रूरी होते हैं

सूखे आंवले का सेवन करने से एसिडिटी की दिक्कत में तुरंत राहत मिलती है